Thursday, 7 February 2013

सरस्वती यंत्र निर्माण




माँ सरस्वती जी की कृपा और गुरुदेव की अनुकंपा से 14 - फरवरी -2013 को वसंत पंचमी के शुभ दिन पर माँ सरस्वती के 51 यंत्रों का निर्माण अनुष्ठान द्वारा किया जा रहा हैं । जो बच्चे , विध्यार्थी पढ़ाई में कमजोर हैं और जो किसी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं । उनके लिए लाभदायक हैं । माँ सरस्वती के सिद्ध स्त्रोत और मंत्र का भी अनुष्ठान साथ में किया जाएगा जिस से यंत्र को शक्तिशाली किया जा सके ।

जो भी यंत्र प्राप्त करना चाहता हो वो , संपर्क कर सकता हैं यंत्रों की संख्या सीमित हैं ।
यंत्र को प्राप्त करने के लिए सायोग राशि 1100 /- Rs. राखी गयी हैं

संपर्क करने का No. - 07869495909 , 9074863073
ईमेल :- rriturajdubey@gmail.com

Saturday, 5 January 2013

श्री बीसा यंत्र






विधान एवं प्रभाव :-

इस यंत्र को शुभ महूर्त में ताम्र पत्र पर खुदवा लें फिर सूर्य उदय के समय इस यंत्र का केसर और चन्दन से पूजन करें । 

मंत्र :-            ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं लक्ष्मी दैव्य: नमः 

इस मंत्र की 21 माला करें साथ में श्री शुक्त का भी पाठ करें । 

इस यंत्र के प्रभाव से कभी कोई अभाव नहीं रहता । माँ लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है । 

Friday, 4 January 2013

भूत प्रेत नाशक यंत्र







विधान एवं प्रभाव :- 

इस यंत्र के प्रभाव से भूत प्रेत की छाया का नशा होता हैं । 

इस यंत्र को केसर से भोजपत्र पर लिखकर लौंग और कपूर के साथ रोगी के सामने धूनी दें , तो भूत प्रेत जो भी होता हैं भाग जाता हैं और पीड़ित ठीक हो जाता हैं । 

शनिवार के दिन सफ़ेद कागज पर काली स्याही से यह यंत्र लिखें और रोगी के उपर से सात बार उतार कर उसमें आग लगा दें । इस प्रयोग से उपर समस्याओं का अन्त हो जाता हैं । 

Monday, 31 December 2012

शत्रु नाशक यंत्र






विधान एवं प्रभाव :- 

इस यंत्र को जो मनुष्य धारण करता हैं । उस मनुष्य का शत्रु उससे शत्रुता करना छोड़ देता हैं और अगर नहीं छोड़ता है तो नष्ट हो जाता हैं । तंत्र मंत्र आदि अभिचार का का प्रभाव नहीं पड़ता है । भूत प्रेत बाधा नहीं होती । और मनुष्य जो भी कार्य करता हैं उस में उसको सफलता प्राप्त होती हैं । 

इस यंत्र को शुभ महूर्त मीन अष्टगंध की स्याही से अनार की कलम द्वारा भोजपत्र पर निर्माण करें तथा निर्माण करते वक़्त अपने मुंह में मिस्री रखें । तथा घी का दीपक जलता रहे । 

मंत्र  :-           "   धूं कुरु कुरु फट्  "

आम की लकड़ी पर उपर दिये मंत्र से हवन करें 108 आहुति इस मंत्र की दें । यंत्र को धूपित कर धारण करें । यंत्र अपना प्रभाव तुरंत प्रकट करने लगता हैं । 





Wednesday, 26 December 2012

विदेश गये को वापस बुलाने का यंत्र








प्रभाव एवं विधान :- 

घर का कोई सदस्य अगर विदेश गया हो और वापस न आ रहा हो तो इस यंत्र का प्रयोग ,किया जा सकता हैं । 

इस यंत्र को रास्ते की मिट्टी से कोरे कागज पर लिखें । उस यंत्र को बेल्ट से मरें । इस प्रयोग से गया हुआ व्यक्ति वापस आ जाता है । 

नींबू के रस से कोरे कागज पर यंत्र लिख कर शमशान में जा कर पीपल के पेड़ के नीचे गाड़ आयें । गया हुआ व्यक्ति वापस आ जाता हैं । 

 दोनों प्रयोग में यंत्र के पीछे वापस जिस को बुलाना हैं उसका नाम लिखें । 

Monday, 24 December 2012

बेकारी दूर करने का यंत्र







विधान एवं प्रभाव :- 

इस  यंत्र को रवि पुष्प योग में गोरोचन , कपूर और केसर और गंगाजल मिलकर , चमेली की कलम से भोजपत्र पर लिखें । लिखतें समय मुंह में मिश्री की अवश्य रखना चाहिये । 

जो व्यक्ति काम धंधे की तलाश में भटक रहा हो किन्तु उसे कहीं कोई नौकरी , कम न मिल पा रहा हो , तो इस यंत्र को विश्वश पूर्वक धारण करने से बेकारी दूर होती है तथा कहीं - न - कहीं नौकरी या काम अवश्य मिल जाता है । 

Friday, 21 December 2012

खोये भागे को बुलाने का यंत्र







विधान एवं प्रभाव :- 
गोरोचन की स्याही से भोजपत्र के उपर इस यंत्र का निर्माण करें । यंत्र के बीच में साध्य का नाम लिखें । फिर इस यंत्र को जल में स्थापित कर दें । 

१.   इस प्रयोग से रूठा व्यक्ति मान जाता है ।
२.  घर से भागा हुआ वापस घर आ जाता है ।
३.  खोया हुआ व्यक्ति मिल जाता हैं